ECG Full Form | ECG Ka Full Form क्या है | ECG Full Form in Hindi – 2022

ECG Full Form, ECG ka Full Form, ECG क्या है, ECG का पूरा नाम, ECG का मतलब, ECG कैसे होता है, ECG के प्रकार, ECG के लाभ, ECG के नुकसान, ECG टेस्ट की फीस क्या है ऐसे बहुत से सवाल जो ECG से सम्बंधित है.

यदि आप ECG से सम्बंधित किसी जानकारी के लिए हमारे ब्लॉग पर आये हैं. तो आप एकदम सही जगह आये है. हमने इस आर्टिकल में ECG के बारे में सभी जानकारी को बहुत ही विस्तारित रूप में दिया है.

जानकारी को प्राप्त करने के लिए आपको हमारा आर्टिकल ECG Full Form शुरू से अंत तक पढ़ना होगा तभी आप ECG के बारे में जानकारी को प्राप्त कर पाएंगे।

ECG Full Form

ECG का Full Form “Electrocardiogram” होता हैं, इसी को हिंदी में “इलेक्ट्रोकार्डियोग्राम” कहा जाता है.

ECG जो की ह्रदय की धड़कनो का रेखा चित्र होता है.

ECG
  • Electrocardiogram

ECG Full Form in Hindi

Electrocardiogram को हिंदी भाषा में “विद्युतयंत्र द्वारा ह्रदय की धड़कनों का रेखाचित्रण” कहा जाता है. और Electrocardiogram  इसका अंग्रेजी फॉर्म होता हैं.

  • ईसीजी (ECG)
विद्युतयंत्र द्वारा ह्रदय की धड़कनों का रेखाचित्रण

ECG क्या है?

ECG एक ऐसा टेस्ट होता है जिसमे दिल की धड़कनो को रेखकृत कर कागज़ पर छापा जाता है. इसे मशीनो के द्वारा किया जाता है. (1)

इसकी सहायता से दिल की हर एक बीमारी का पता लगाया जाता है. दिल का दर्द, उच्च रक्तचाप, बेहोशी, घबराहट, सांस की बीमारी इसके आलावा बहुत सी दिल की बीमारियों का पता लगाया जाता है.

ECG से दिल की बीमारी की जाँच करके उसका इलाज किया जाता है. अगर आपको भी किसी प्रकार की दिल से सम्बंधित कोई बीमारी रहती है तो आपको ECG टेस्ट करवा लेना चाहिए।

आपको हर थोड़े थोड़े समय के बाद ECG टेस्ट कृते रहना चाहिए। जिससे अगर आपको हदय की कोई परेशानी हो तो आप उसका सही समय पर इलाज करवा सकते है.

ईसीजी टेस्ट से क्या-क्या जानकारी प्राप्त होती है

ECG से डॉक्टर को आपके शरीर की हर एक बीमारी का पता चल जाता है जिसकी सहायता से डॉक्टर इलाज करता है.

  • दिल की विद्युतीय गतिविधियों की जानकारी ECG टेस्ट के द्वारा पता लगाई जाती है.
  • ECG का उपयोग दिल की बीमारी के साथ साथ मरीजों के द्वारा ली जाने वाली दवाइयों के साइड इफेक्ट्स की जानकारी के लिए किया जाता है.
  • दिल में दर्द होना दिल के दौरे के लक्षणों को दर्शाता है. जिसे अच्छे से जानने के लिए ECG टेस्ट को किया जाता है.
  • ECG से दिल के दौरे से दिल की मांसपेशियों पर पड़ने वाले प्रभाव को जांचा जाता है.
  • यदि किसी के दिल की वैल्यू पता करनी है. मतलब कितने प्रतिशत दिल सही है इसके लिए ECG टेस्ट किया जाता है.

इन सब के साथ साथ बहुत सी ऐसी जानकारियां होती है जिन्हे ECG टेस्ट के द्वारा पता लगाया जाता है.

ईसीजी के प्रकार

ECG टेस्ट मुख्य रूप से तीन प्रकार होते है. तो चलिए इसके बारे में डिटेल्स में जानकारी प्राप्त करते है.

  1. Resting ECG
  2. Ambulatory ECG
  3. Stress or Exercise ECG

1. Resting ECG

मरीज जब आराम से बेड पर लेट जाये तब रेस्टिंग ईसीजी किया जाता है.

2. Ambulatory ECG

इसमें मरीज को उसकी कमर पर एक मशीन को पहनाया जाता है. जिसमे एक दो दिन तक दिल की निगरानी की जाती है जिसमे ये दिल की धड़कन को रिकॉर्ड करता है इसमें मरीज अपने रोजमर्रा के छोटे-मोटे काम भी कर सकता है.

3. Stress or Exercise ECG

जब आप एक्सरसाइज़ कर रहे होते है जिसमे आप ट्रेडमिल या किसी व्यायाम बाइक का इस्तेमाल करते है उसमे Stress or exercise ecg टेस्ट को किया जाता है.

ईसीजी क्यों करवाया जाता है

ECG टेस्ट हृदय से संबंधित बीमारी को जानने के लिए किया जाता है. यदि हमें हृदय की बीमारी हो तो हम ECG टेस्ट करवाते हैं.

ECG टेस्ट हृदय के आलावा और बहुत सी जानकारियां प्रदान करता जो हमारे शरीर से सम्बंधित होती है हम जानते है ECG से मुख्य रूप से कोनसी जानकारी प्राप्त होती है.

  • सबसे पहले ECG टेस्ट से हृदय के कक्षों के दीवारों की मोटाई को जानने के लिए किया जाता है.
  • हृदय यदि एक तरफ की और बाद जाये तो इसके लिए भी ECG टेस्ट किया जाता है.
  • हृदय में दर्द होने पर भी ECG टेस्ट किया जाता है.
  • मधुमेह और उच्च रक्तचाप होने पर भी ECG टेस्ट किया जाता है.

ईसीजी टेस्ट की फीस

ECG टेस्ट की फीस बहुत ही काम होती दूसरे टेस्टो के मुकाबले इसकी हम आपको औसतन फीस बता पाएंगे जो की 100 रुपए से लेकर 500 रुपए तक होती है. लेकिन ये इस पर निर्भर करता है की आप ECG टेस्ट को कहाँ से करवाते हो.

यदि आप सरकारी हॉस्पिटल से टेस्ट करवाते है. तो आपको बहुत ही कम फीस में ECG टेस्ट को करवा पाएंगे। और यदि किसी प्राइवेट हॉस्पिटल में करवाते है तो आपको अधिक फीस भी चुकानी पड सकती है.

ईसीजी से लाभ

ईसीजी टेस्ट के मुख्य लाभ क्या क्या होते है वो इस प्रकार है.

  • ECG टेस्ट का सबसे बड़ा लाभ हम हदय की किसी भी बीमारी का सही समय पर पता लगा सकते है.
  • ECG से हम ह्दय प्रतिमिनट की धड़कन की दर को पता लगाया जा सकता है.
  • दिल की इलेक्ट्रिक एक्सेस का सही निर्धारण ECG टेस्ट से किया जाता है. और इसके साथ सभी हदय सम्बंधित बीमारियों का निदान भी.

ECG टेस्ट की सहायता से हम ये पता लगा सकते है की इंसान का हदय स्वस्थ है या नहीं यदि कोई बीमारी हो तो ECG टेस्ट की सहायता से उसे आसानी से पता लगाया जा सकता है.

ईसीजी से नुकसान

ईसीजी टेस्ट से किसी भी तरीके का नुकसान नहीं होता लेकिन टेस्ट करते वक्त शरीर पर इलेक्ट्रोड को लगते है जिसे टेस्ट के बाद निकाल दिया जाता है और उसके कुछ समय बाद उस जगह पर सूजन आना सामान्य है जो कुछ समय बाद सही हो जाता है.

  • औसतन फीस  – (100-500) रूपये

ईसीजी करवाने से पहले क्या सावधानी रखे

यदि आपको ECG टेस्ट करवाना होगा तो आपको कुछ बातो का ध्यान रखना होगा। जिससे आपका ECG टेस्ट एकदम सही से आये जानते है वो कोन-कोन सी सावधानिया रखनी चाहिए।

  • सबसे पहले आपको किसी प्रकार की क्रीम या लोशन का इस्तेमाल अपनी त्वचा पर नहीं करना होता है यदि आप ECG टेस्ट से पहले किसी लोशन का इस्तेमाल करते है तो इलेक्ट्रोड को त्वचा के सम्पर्क में आने से परेशानी होती है जिससे टेस्ट रिपोर्ट भी गलत हो सकती है.
  • ECG टेस्ट से पहले आपको ठन्डे पानी का सेवन नहीं करना चाहिए।
  • टेस्ट से पहले आपको किसी प्रकार की exercise को नहीं करना होता है.

ईसीजी के दौरान

ECG टेस्ट किसी भी प्रकार का दर्द नहीं होता इसमें आपको एक बीएड पर लिटाया जाता है. उसके बाद पैड को आपके सीने, बाँहों, टांगो पर लगाया जाता है. और इसमें आपको 20-25 मिनट तक हिलना नहीं होता इसके दौरान मशीन आपके दिल की  गतिविधियों को पढ़ लेता हैं.

इसके दौरान आपको किसी के साथ बोलना भी नहीं होती जिससे आपकी हार्डबीट घट या बढ़ सकती है जिससे ECG रिपोर्ट गलत हो सकती है.

जा टेस्ट पूरा हो जाता है तब आप वापस से सामान्य गतिविधियों को वापस शुरू कर सकते है.

आज आपने क्या सीखा

आज हमने इस आर्टिकल में ECG Full Form, ECG ka Full Form, ECG का मतलब, ECG टेस्ट की फीस, ECG क्या है, ECG से पहले की सावधानी, ECG फुल फॉर्म हिंदी में, ECG Full Form in Hindi, इसके आलावा बहुत से सवाल जो ECG से सम्बंधित है उनका उत्तर हमने इस आर्टिकल में दिया है.

अगर आपने हमारा आर्टिकल ECG Full Form शुरू से अंत तक पढ़ा होगा तो अब तक आपको ECG से सम्बंधित सभी जानकारियां मिल गयी होंगी अगर आपके पास कोई प्रश्न हैं तो आप हमसे कमेंट सेक्शन में पूछ सकते है.

आपको हमारी जानकारी ECG Full Form in Hindi कैसे लगी अगर आपके पास ECG फुल फॉर्म के बारे में कोई सुझाव हो तो आप हमें कमेंट में जरूर बताये।

अगर आपको हमारी जानकारी पसंद आयी तो आप ऐसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे तांकि वो भी इस जानकारी को जान सके.

ऐसी ही और महत्वपूर्ण जानकारियों के लिए हमारे ब्लॉग SandeepSEO पर विजिट करते रहे.

इसे भी पढ़े

FAQ

ECG Full Form क्या है?

ECG का Full Form “Electrocardiogram” होता हैं.

ईसीजी टेस्ट की फीस कितनी होती है?

ECG की औसतन फीस 100 रुपए से लेकर 500 रुपए तक होती है

Leave a Comment

error: Content is protected !!